अपने दौर में सबसे महंगा टीवी शो था ‘रामायण’, तब ऐसे होती थी शूटिंग

रामानंद सागर की हिट और क्लासिक ‘रामायण’ का क्या जलवा था, यह किसी से छिपा नहीं है। यह एक ऐसा सीरियल था, जिसे देखने के लिए गलियां और सड़कें सुनसान हो जाती थीं। जिस वक्त रामानंद सागर ने इस सीरियल की शुरुआत की, उस वक्त उन्होंने सोचा भी नहीं था कि इसे एतिहासिक सफलता मिलेगी और दुनियाभर में इसके कलाकारों को पूजा जाएगा।

कंप्यूटर ग्राफिक्स के बिना ऐसे शूट किए गए वॉर सीन

आज टीवी की दुनिया काफी तरक्की कर चुकी है। टेक्नॉलजी में भी नई-नई चीजें आ गई हैं, जिसकी मदद से किसी भी सीन को दमदार बनाया जा सकता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि ‘रामायण’ के युद्ध वाले दृश्य बिना कंप्यूटर ग्राफिक्स के तैयार किए गए थे?

वॉर सीन के लिए बुलाए गए 2 हजार लोग

युद्ध के दृश्यों को असली बनाने के लिए करीब 2 हजार लोगों को बुलाया गया था। ‘रामायण’ की शूटिंग गुजरात के अंबरगांव में की गई थी और युद्ध के दृश्यों को फिल्माने के लिए अंबरगांव से लेकर अहमदाबाद तक के जूनियर आर्टिस्टों को भी बुलवाया गया था। साल 2016 में दिए एक इंटरव्यू में मोती सागर ने इस बारे में बताया था। (फोटो: YouTube)

‘रामायण’ एक पर खर्च होती थी इतनी रकम

‘रामायण’ 80 के उस एपिसोड दौर का सबसे महंगा टीवी शो था। मोती सागर के मुताबिक, एक एपिसोड पर करीब 9 लाख रुपये खर्च किए जाते थे।

‘रामायण’ के कलाकारों को मिली जिंदगी भर की पहचान

‘रामायण’ के सभी किरदार लोकप्रिय हुए और उन्हें जिंदगीभर की पहचान मिली। अरुण गोविल और दीपिका चिखलिया को तो लोग आज भी राम और सीता के नाम से ही जानते हैं। वहीं विभीषण से लेकर रावण और लक्ष्मण तक का किरदार निभाने वाला हर कलाकार मशहूर हो गया था।

रामानंद सागर ने ‘राम’ अरुण गोविल को कर दिया था रिजेक्ट

अरुण गोविल तो राम के किरदार के लिए पहली पसंद नहीं थे। उन्हें इस रोल में ऑडिशन के दौरान ही रिजेक्ट कर दिया गया था। एक इंटरव्यू में अरुण गोविल ने बताया था कि रामानंद सागर ने राम के रोल के लिए किसी और को चुन लिया था। उन्हें भरत का रोल दिया गया था, पर वह राम का रोल चाहते थे। अरुण गोविल इसी उधेड़-बुन में बैठे थे कि तभी कुछ दिन बाद रामानंद सागर ने उन्हें फोन करके बुलाया और राम का रोल ऑफर किया।

‘राम’ के कारण सालों तक रहे टीवी से दूर

इसके बाद तो अरुण गोविल सभी लोगों के लिए ‘राम’ बन गए। राम की छवि उन पर इस कदर हावी हुई कि वह फिर कभी इससे बाहर नहीं निकल पाए। इस चक्कर में उन्हें कई साल टीवी से दूर रहना पड़ा था

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Air News अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *