पूजा करते समय धूप क्यों जलाई जाती है? जानिए भगवान से क्या है संबंध

पूजा करते समय धूप क्यों जलाई जाती है? जानिए भगवान से क्या है संबंध

लगभग हर पूजा में अगरबत्ती और धूप की आवश्यकता होती है। फिर चाहे यह पूजा मंदिर में की जा रही हो या घर पर। अगरबत्ती बिना पूजा अधूरी रहती है। अगरबत्ती-धूप का उपयोग गृह प्रवेश, उदघाटन जैसे शुभ कार्यों में भी किया जाता है। लोगों को पवित्र नदियों को अगरबत्ती जलाकर पूजा करनी चाहिए। क्या आपने कभी सुना है कि ऐसा क्यों किया जाता है?

यह कारण से की जाती है धूप -अगरबाती

अगरबत्ती-अगरबत्ती का प्रयोग इसकी सुगंध के कारण किया जाता है। जिससे पूजा के समय वातावरण सुगन्धित रहे। वातावरण नकारात्मकता को दूर करता है और सकारात्मकता की ओर ले जाता है। अगरबत्ती-अगरबत्ती की सुगंध मन को शांति देती है और बहुत अच्छा लगता है। यह किसी के मन में पवित्रता और शांति भी लाता है। यही कारण है कि अगरबत्ती बनाने के लिए कई तरह की जड़ी-बूटियों और फूलों के अर्क का इस्तेमाल किया जाता है।

ऐसी पवित्र सुगंध से वातावरण को शुद्ध करने के लिए पूजा-आरती में कपूर भी जलाया जाता है। कपूर की महक कई दोषों को दूर करती है।

देवी-देवता प्रसन्न होते हैं

सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि धूप जलाने से देवी-देवता प्रसन्न होते हैं। अलग-अलग देवी-देवताओं की अलग-अलग सुगंध होती है। इसलिए उन्हें अगरबत्ती या इत्र अर्पित करना चाहिए। जैसे लक्ष्मीजी को गुलाब की सुगंध प्रिय है और शंकरजी को केवड़े की सुगंध प्रिय है। इसलिए पूजा के दौरान भगवान को प्रसन्न करने वाली चीजों का प्रयोग करना चाहिए। यह जल्द ही भगवान को प्रसन्न करता है।

Dhara

Leave a Reply

Your email address will not be published.