जानिए कितनी संपत्ति के मालिक हैं प्रवीण तांबे, जीते हैं ऐसी शाही ज़िन्दगी

जानिए कितनी संपत्ति के मालिक हैं प्रवीण तांबे, जीते हैं ऐसी शाही ज़िन्दगी

दोस्तो क्रिकेट खेल की दुनिया में अक्सर ऐसा देखा जाता है, की खिलाड़ी कभी अच्छे दौर से गुजरते है, तो कभी बेहद खराब दौर से गुजरते है। जिसके चलते उनके बारे में अच्छे से कोई जानता तक नहीं है। इन्ही खिलाड़ियों में से बात करे, तो पूर्व क्रिकेटर प्रवीण तांबे भी है, जो फिलहाल काफी चर्चाओं में है। दरअसल इस खिलाड़ी का क्रिकेट करियर बेहद उतार चढ़ाव और मुश्किलों से भरा पड़ा है। और हाल ही में इस दिग्गज खिलाड़ी के ऊपर एक मूवी भी बनाई गई है, जिसका नाम कौन प्रवीण तांबे? है। ये फिल्म प्रवीण के जीवन के ऊपर आधारित है।

बता दे, की जयप्रद देसाई की इस फिल्म में मुख्य भूमिका में श्रेयस तलपड़े नजर आने वाले है। और ये फिल्म 1 अप्रैल को डिजनी प्लस हॉटस्टार पर रिलीज की जा चुकी है। और रिलीज होने के बाद ही ये मूवी क्रिकेट फैंस को बेहद पसंद आ रही है। और इन्ही सब के चकते आज हम इस आर्टिकल के जरिए प्रवीण तांबे की नेट वर्थ, उनके करियर और उनके परिवार के बारे में कुछ बाते जानेंगे। दोस्तो अगर प्रवीण तांबे की संपत्ति को देखे तो उनकी संपत्ति 6 करोड़ के करीब बताई जाती है। उन्होंने अपने क्रिकेट करियर के चलते विज्ञापन, मैच फीस, अपने निवेश और भी कई चीजों से कमाई की है। इसके अलावा तांबे ने साल 2013 में राजस्थान रॉयल्स की तरफ से आईपीएल में भी डेब्यू किया था। और फिर वे 3 साल तक आईपीएल में खेलते रहे।

जिसके लिए उन्हें साल में 10 लाख रुपए दिए जाते थे। इसके बाद प्रवीण तांबे साल 2016 में गुजरात लाइंस और 2017 में सनराइजर्स हैदराबाद की तरफ से भी खेलते नजर आए। इसके लिए उन्हे साल में 20 लाख रुपए की फीस दी जाती थी। और फिर साल 2020 में केकेआर की तरफ से उन्हे 20 लाख रुपए में साइन किया गया था।

आपको बताना चाहेंगे, की प्रवीण तांबे ने 41 साल की उम्र में आईपीएल में डेब्यू किया था। और अब तक आईपीएल में सबसे ज्यादा उम्र के खिलाड़ियों में से एक है। और जिस दौरान उन्हें आईपीएल के लिए चुना गया था, उस समय तक उन्होंने कभी पेशेवर क्रिकेट नही खेला था। प्रवीण जब छोटा था, तब वह एक तेज गेंदबाज बनना चाहता था, लेकिन उन्हें ओरिएंट शिपिंग कप्तान अजय कदम ने लेग स्पिन गेंदबाजी करने की सलाह दी थी। इसके बाद उन्होंने शिवाजी पार्क जिमखाना टीम के लिए खेलते हुए अपनी लेग स्पिन ने संदीप पाटिल को भी प्रभावित किया।

प्रवीण के पिता विजय ने एक बार क्रिकेटकंट्री के साथ एक इंटरव्यू में बताया था, कि संदीप पाटिल ने प्रवीण के फ्लिपर काफी हाई रेटेड बताय था। बताना चाहेंगे, की प्रवीण ने मुंबई में एक क्लब स्तर के खिलाड़ी के रूप में कई सालो तक बेहद कड़ी मेहनत की। और इसे प्रवीण ने अपनी एक दिन नौकरी के साथ साथ एक साइड हसल के रूप में भी अपनाया। उन्होंने 1995.96 सीज़न में मुंबई की घरेलू लीग के डी डिवीजन में पारसी साइकिल राइडर्स के साथ क्लब क्रिकेट खेलना शुरू किया।

इसके बाद उन्होंने शिवाजी जिमखाना में शामिल होने के बाद टॉप लीग में खेलने के पहले मुंबई के घरेलू लीग के बी डिविजन में पारसी जिमखाना जाने का फैसला किया। इसके बाद उन्हें साल 2000 से 2002 तक मुंबई की रणजी संभावित टीम मे उनका नाम सामने आया, हालाकि बाद में उन्हे अंतिम फाइनल टीम में शामिल करना जरूरी नहीं समझा।

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Air News अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Dhara

Leave a Reply

Your email address will not be published.