पिता की मर्जी के बिना काजोल ने की थी अजय देवगन से शादी, पहली नजर में ही हो गई थी घायल

बॉलीवुड की दुनिया में अभिनेता अजय देवगन और काजोल की जोड़ी सबसे चर्चित जोडियो में से एक है। इंडस्ट्री की ये जोड़ी स्क्रीन परफोर्मेंस के साथ ही अपनी ऑफ़ स्क्रीन कैमिस्ट्री के लिए भी काफ़ी मशहूर है. कहा जाता है की अभिनेता अजय देवगन ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत ‘फूल और कांटे’ से की थी। दूसरी तरफ अभिनेत्री काजोल ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत फिल्म बेखुदी से की। इसके बाद इन दोनों ने बॉलीवुड की कई बड़ी बड़ी फिल्मो में भी साथ साथ काम और अब ये कपल अपनी जिन्दगी के उस मुकाम पर है कि आज ये किसी पहचान के मोहताज नहीं है।

कहते है की इसी दौरान जब अजय और काजोल ने एक साथ कई फिल्मो में काम किया, जिससे इनके बीच नजदीकिय बढ़ने लगी और फिर ये दोनों एक दुसरे से प्यार भी करने लगे। इसके बाद इन्होने शादी करने का फैसला लिया। लेकिन काजोल के पिता को अभिनेता अजय देवगन बिलकुल भी पसंद नहीं थे। ऐसे में इन्हें एक दुसरे से शादी करना काफी मुश्किल हो गया. तो चलिए फिर जानते है की कैसे हुई इन दोनों की शादी??

खबरों की माने तो, अभिनेता अजय और काजोल के इस रिश्ते की शुरुआत साल 1994 में हुई थी। जहा एक तरफ काजोल एक बड़बोली, चुलबुली अदाओं वाली लड़की थी, वही अजय चुपचाप रहने वाले व्यक्ति थे लेकिन ये आगे चलकर हमेशा हमेशा के लिए एक दूसरे के हो गए थे। हलचल के दौरान अजय देवगन और काजोल ने एक-दूसरे को पसंद किया था। इनके लव अफेयर्स को लेकर कहा जाता है की अजय को ही काजोल से अपने प्यार का इजहार करना पड़ा था। जिसके बाद फिल्म हलचल की शूटिंग के बीच ही दोनों की अफेयर की खबरें भी मिडिया में आने लगी थी। शूटिंग खत्म होने तक मीडिया में इन दोनों की प्यार की खूब बातें होने लगी थी।

कहा जाता है की ये दोनों पहली बार फिल्म हलचल में एक साथ नजर आये थे और ये फ़िल्म साल 1995 में रिलीज हुई थी। हालांकि ये फ़िल्म बॉक्स ऑफिस पर फ्लॉप हो गई थी, लेकिन असल जिंदगी में अजय और काजोल की इस जोड़ी की चर्चा काफी तेज हो गई थी। इसके बाद ये दोनो फिल्म ‘गुंडाराज, इश्क, प्यार तो होना ही था, दिल क्या करे, यू मी और हम और राजू चाचा जैसी कई फिल्मों में साथ दिखाई दिए है।

इसके बाद फिल्म ज़ख्म से इनके अफेयर की चर्चाओं में काफी तेजी आने लगी। इस फ़िल्म में अजय देवगन एक अहम रोल नजर आये थे. जबकि इस फिल्म में काजोल का कोई रोल नहीं था। ऐसे में जब फिल्म के सेट पर काजोल को भी लगातार देखा गया तो फिर ये साफ हो गया था कि इन दोनो के बीच में कुछ ना कुछ तो जरुर है। इसी तरह इन्होने अपने इस रिश्ते को शादी से पहले करीब 5 साल तक का समय दिया। इसके बाद साल 1994 में शुरू हुई इनकी ये प्रेम कहानी साल 1999 में शादी में बदल गई थी।

24 फरवरी 1999 को अजय और काजोल शादी के बंधन में बंधे और ये शादी बहुत ही साधारण तरीके से हुई थी। दरअसल इनकी इस शादी में बॉलीवुड से किसी को नहीं बुलाया गया था। क्योकि काजोल के पिता इस शादी से पूरी तरह ख़िलाफ़ थे। क्योंकि वह चाहते थे कि उनकी बेटी करियर के शिखर पर शादी न करें। वैसे आज अजय और काजोल दोनों एक बेटी न्यासा और एक बेटे युग देवगन के माता-पिता बन चुकी है।

वही यदि बात इनके वर्कफ़्रंट की करें तो काजोल मुख़्य रूप से फिल्मों में अब नजर नहीं आती है। वहीं अजय देवगन के पास आज आरआरआर, मेडे और मैदान जैसे कई फ़िल्में हैं।और इनकी मैदान फिल्म फुटबॉल पर आधारित फ़िल्म है। वहीं मेडे में अजय अमिताभ बच्चन के साथ नज़र आयेंगे। वहीं आरआरआर में जूनियर एनटीआर और राम चरण जैसे साउथ के सितारें भी आपको देखने को मिलेंगे।

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Air News अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Dhara

Dhara

Leave a Reply

Your email address will not be published.