तलाक के बाद सैफ अली खान को सारा और इब्राहिम से मिलने नहीं देती थी अृमता सिंह, इस बात का था शक!

बॉलीवुड की कई फेमस जोड़ियां हैं, जिन्होंने अपना नाम प्यार की लिस्त में तो लिखाया, लेकिन इस मोहब्बत की लिस्ट में उनका नाम ज्यादा चला नहीं. इंडस्ट्री में कई कपल्स की जोड़ियां शुरू तो प्यार से हुई थीं, लेकिन अंजाम तलाक तक पहुंच गया. उन्हीं में से एक नाम अृमता सिंह और सैफ अली खान का भी है. दोनों ने तब शादी की थी, जब अमृता सिंह का करियर ग्राफ काफी अच्छा था और सैफ अली खान ने इंडस्ट्री में कदम तक नहीं रखा था. अमृता सिंह सैफ अली खान से 12 साल बड़ी हैं.

तलाक के बाद सैफ अली खान को सारा और इब्राहिम से मिलने नहीं देती थी अृमता सिंह

दोनों ने लव मैरिज की थी, लेकिन ये दोनों की ये मोहब्बत भरी शादी ज्यादा चल नहीं पाई. दोनों ने अपने घर वालों के खिलाफ जाकर ये शादी की थी. कुछ समय तक तो दोनों काफी खुश थे. दोनों के दो प्यारे से बच्चे भी हुए, जिनका नाम इब्राहिम अली खान और सारा अली खान है. कुछ समय तक सब कुछ ठीक होने के बाद सैफ और अमृता के बीच दूरियां बढ़ना शुरू हो गई थी और साल 2004 में शादी के 13 साल बाद यह जोड़ी तलाक लेकर हमेशा-हमेशा के लिए अलग हो गई. दोनों ने तलाक ले लिया और बच्चे अमृता सिहं के पास रहे.

आपको ये जानकर हैरानी होगी कि अमृता सिंह अपने बच्चों को सैफ अली खान से मिलने भी नहीं दिया करते थे. इसके पीछे की वजह जानकर आपके होश उड़ जाएंगे. फिलहाल सैफ अली खान करीना कपूर खान के साथ शादी के बंधन में बंधे हुए हैं. दोनों के दो बच्चे भी हैं, तैमुर और जहांगिर, लेकिन अमृता सिंह से तलाक के बाद सैफ अली खान की लाइफ में एक इटालियन मॉडल की एंट्री हुई थी, जिसका नाम रोज़ा था.

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Sara Ali Khan (@saraalikhan95)

बताया जाता है कि रोज़ा के साथ इन्हीं नज़दीकियों के चलते अमृता अपने दोनों बच्चों से सैफ को मिलने नहीं देती थीं. दरअसल, अमृता को इस बात का शक था कि रोज़ा उनके बच्चों को उनके ही खिलाफ भड़का सकती हैं. इसके बाद कुछ समय तक सब अच्छा चलने के बाद सैफ अली खान और रोज़ा का भी ब्रेकअप हो गया.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Air News अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Dhara

Dhara

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *