प्लेन में ये 4 शब्द कभी न बोलें, लाखों का जुर्माना और जेल के साथ लग सकता है लाइफटाइम बैन

प्लेन में ये 4 शब्द कभी न बोलें, लाखों का जुर्माना और जेल के साथ लग सकता है लाइफटाइम बैन

प्लेन से सफर करने का अपना अलग एक मजा होता है। इसमें एक हाई क्लास वाली फिलिंग आती है। फिर प्लेन से ज्यादा दूरी कम समय में भी तय हो जाती है। हालांकि प्लेन में सफर करने के लिए ट्रेन या बस की तुलना में नियम कायदों का पालन ज्यादा करना पड़ता है। इन्हीं रूल्स में से एक नियम ऐसा भी है जिसमें आपको फ्लाइट अटेंडेंट को भूलकर भी ‘खास’ चार शब्द नहीं कहने चाहिए।

दरअसल फ्लाईट सेफ्टी रूल्स के अनुसार विमान में कुछ गतिविधियों और शब्दों को बेहद गंभीरता से लिया जाता है। ऐसे में यदि आप फ्लाइट स्टाफ से मजाक में भी वे चार शब्द बोल दें तो आप मुसीबत में पड़ सकते हैं। आपको इन शब्दों को बोलने के बदले लाखों रुपए का जुर्माना लग सकता है। इतना ही नहीं आप 3 साल की जेल की सजा भी काट सकते हैं।

इससे भी बड़ी बात कि भविष्य में आपको प्लेन में बैठने से बैन किया जा सकता है। तो चलिए जानते हैं कि आखिर क्या हैं वह चार शब्द जिन्हें फ्लाइट में भूलकर भी नहीं बोलना चाहिए।

ये हैं वह चार शब्द

प्लेन में सफर करते समय आप फ्लाइट अटेंडेंट से ड्रिंक (शराब) की विनती कर सकते हैं, लेकिन आप इस प्लेन में पहले से ड्रिंक कर के चढ़ नहीं सकते हैं। एयरलाइंस इसे लेकर इतनी सिरियस होती हैं कि यदि आप ने मजाक में भी बोल दिया कि ‘मैं नशे में हूं’ तो आप बहुत बड़ी मुसीबत में पड़ सकते हैं। दरअसल नशे में धुत्त पैसेंजर बाकी यात्रियों की सेफ़्टी के लिए खतरा पैदा कर सकते हैं।

प्लेन से उतार सकता है फ्लाइट स्टाफ

नशेड़ी यात्रियों को प्लेन में चढ़ने से रोकने के लिए सभी एयरलाइनों की तरफ से केबिन क्रू और फ्लाइट अटेंडेंट को कुक विशेष अधिकार दिए गए हैं। इसके तहत वे नशा कर चुके यात्रियों को प्लेन में चढ़ने से मना कर सकते हैं। यदि उन्हें प्लेन के उड़ान भरने के बाद पता चले कि कोई पैसेंजर नशे में बेसुध है तो उनके पास उन्हें नजदीकी एयरपोर्ट पर लैंड कर विमान से उतारने का अधिकार होता है।

जीवनभर नहीं कर सकते विमान की यात्रा

यदि नशे में धुत्त यात्री बहस या हंगामा करता है तो उसके ऊपर केस भी दर्ज हो सकता है। यदि वह इस केस में दोषी पाया जाता है तो उसके ऊपर 8 हजार पाउंड का जुर्माना लग सकता है। वहीं उसे 3 साल की जेल भी हो सकती है। इतना ही नहीं यदि एयरलाइन ने उस यात्री को उपद्रवी यात्री की लिस्ट में डाल दिया तो वह जीवनभर प्लेन में बैठने के लिए ब्लैकलिस्ट हो जाता है। अर्थात उसे विमान यात्रा करने से लाइफ टाइम बैन कर दिया जाता है।

इसलिए अब जब भी आप प्लेन का सफर करें तो नशा कर के नहीं जाए, और ‘मैं नशे में हूं’ ये शब्द मजाक में भी न कहें।

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Air News अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Dhara

Leave a Reply

Your email address will not be published.