ACP प्रद्युमन हुए बिल्कुल बेरोज़गार, काम ना मिलने को लेकर कहा कि ये मेरा दुर्भाग्य है

“दया” दरवाज़ा तोड़ दो”. अगर आप टीवी देखना पसंद करते हैं तो ये डायलॉग आपने कभी ना कभी ज़रूर सुना होगा. ये डायलॉग है सीआईडी फेम ऐक्टर शिवाजी साटम का. हालांकि आप इन्हें शिवाजी साटम के नाम से जाने ये जाने लेकिन आप इन्हें CID के ACP प्रद्युमन के नाम से ज़रूर जानते हैं.

शिवाजी साटम बॉलीवुड और टीवी जगत के एक जाने माने कलाकार हैं. उन्होंने अपने करियर में अब तक कई शानदार फिल्मों में काम किया है. लेकिन उन्हें असली पहचान टीवी के सबसे पॉपुलर शो CID से मिली. जिसमें इन्होंने ACP प्रद्युमन का रोल निभाया था. ये शो साल 1998 से शुरू होकर लगातार 20 सालों तक यानी साल 2018 तक टीवी पर चला. वहीं इस शो के साथ शिवाजी साटम शुरुआत से ही जुड़े रहे है, और शो के आखिरी सफर तक साथ रहे. इस दौरान दर्शकों के मन में इनकी छवी ऐसी बनी की आज लोग इनको इनके नाम से कम और ACP प्रद्युमन के नाम से ज्यादा जानते हैं.

हालांकि इतने पॉपुलैरीटी के बाद भी आज शिवाजी को इनका पसंदीदा काम नहीं मिल रहा है, और आज ये बेरोज़गार है. इसका खुद शिवाजी ने ही अपने हाल ही में दिए एक इंटरव्यू में किया है. इस इंटरव्यू में शिवाजी ने बताया कि CID के बंद होने के बाद से ही उनके पास बिल्कुल काम नहीं है, जो ऑफर उनके पास आते है वो उतने अच्छे नहीं होते हैं कि उनके लिए हां किया जाए.

शिवाजी ने आगे कहा कि अपने करियर में अब तक मैंने सिर्फ वही रोल किए हैं जो मुझे पसंद आते हैं. लेकिन आज ये मेरे लिए बहुत दुख की बात है आज मुझे अच्छे रोल नहीं मिल रहे हैं. और जो रोल मिल भी रहे हैं वो पुलिस के किरदार के लिए होते हैं जो मैंने 20 सालों तक किया है. और अब मैं ऐसे रोल नहीं करना चाहता हूं. वहीं आगे उन्होंने CID के फिर से शुरू होने को लेकर भी बताया. उन्होंने कहा कि CID के मेकर्स एक नए रूप में शो को लाने की तैयारी में है, हालंकि अभी तक कुछ फाइनल नहीं है.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Air News अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Dhara

Dhara

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *