मां पोर्न साइट चलाती और बाप गाली देता हैं, सारा के सामने ऐसी थी सैफ अमृता की छबि

सारा अली खान हिंदी सिनेमा की एक उभरती हुईं अदाकारा हैं. सारा अली ने शुरू से ही फ़िल्मी माहौल देखा हैं. उनकी दादी शर्मिला टैगोर अपने दौर की मशहूर अदाकारा रही हैं. वहीं उनकी मां अमृता सिंह भी 80 और 90 के दशक में बॉलीवुड का बड़ा नाम रहे. जबकि उनके पिता अभिनेता सैफ अली खान हैं.

सारा अली खान ने पिता और मां के नक्शेकदम पर चलते हुए फ़िल्मी दुनिया को ही करियर के रूप में चुना. अभी उन्होंने बॉलीवुड में कुछ एक फिल्मों में ही काम किया है हालांकि दर्शकों के दिलों को वे पसंद आई है. कम समय में ही अभिनेत्री ने अपनी एक अच्छी ख़ासी फैन फॉलोइंग बना ली हैं.

सारा अली खान अपनी ख़ूबसूरती के लिए भी ख़ूब चर्चा में रहती हैं. वहीं वे सोशल मीडिया पर भी चर्चा में आ जाती हैं. बता दें कि, सारा किसी भी मुद्दे पर खुलकर बोलती हैं और फैंस को उनका यह अंदाज काफी पसंद आता है. अक्सर सारा अपने पिता सैफ अली खान और मां अमृता सिंह के रिश्ते पर भी बात करती हुई नज़र आती हैं.

कई मौकों पर सारा को मां और पिता के रिश्ते पर अपने विचार रखते हुए देखा गया है. हाल ही में एक बहार फिर से सारा ने एक साक्षात्कार में अपने पिता सैफ और अपनी मां अमृता के बारे में बात की है. इस दौरान एक्ट्रेस ने दोनों को लेकर कुछ ऐसा कह दिया था जो कि अब चर्चा का विषय बन गया है.

दरअसल, बात यह है कि एक्ट्रेस जब छोटी थी तो वे अपने माता-पिता के बारे में अजीब सी सोच रखती थीं. उन्हें यह लगता था कि उनके पिता सैफ और मां अमृता दोनों बुरे हैं. क्योंकि वे समझती थी कि सैफ गालियां देते हैं और मां अमृता एक पोर्न साइट चलाती हैं. यह ख़ुलासा एक्ट्रेस ने हाल ही में किया है.

अपने एक साक्षात्कार में सारा अली खान ने कहा कि, ‘मुझे सिर्फ यह याद है कि बचपन मैं मैंने फिल्म ओमकारा और फिल्म कलयुग देखी थी और मुझे लगने लगा था कि मेरे माता पिता कितने बुरे लोग है. उन्होंने कहा कि मैं सोचती थी कि अब्बा गलत भाषा का इस्तेमाल करते थे और मां पोर्न साइट चलाती है और यह बात उस वक्त बिल्कुल भी मजाकिया नहीं थीं’.

सारा ने आगे कहा कि, ‘एक ही साल में दोनों (सैफ और अमृता) को बेस्ट एक्टर इन निगेटिव रोल में नॉमिनेट किया गया था तो मैं और भी हैरान रह गई थी. मैं हमेशा से अपनी ममा गर्ल रही हूं. मैं हमेशा से चीजों को ज्यादा जानने और हमेशा प्रेरित रहने की कोशिश करती हूं. यह सब गुण मैंने किसी ट्यूटर, घर या जिम ट्रेनर से नहीं सीखा है’.

सारा ने आगे कहा कि, ‘मैं ऐसी हूं जिसे पांच पुशअप्स और लगाने होते हैं, जिसे कैमेस्ट्री का एक चैप्टर और पढ़ना होता है और मुझे स्क्रिप्ट को एक बार और सुनना होता है. हां यह सच है कि जिंदगी के हालात ने बहुत कुछ बदल दिया. मैं अब बहुत सी चीजों में बहुत बेहतर होती जा रही हूं’.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Air News अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

admin

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *