तलाक तक खत्म नहीं हुई थी बात, इस वजह से डिवोर्स के बाद भी सालों तक परेशान रहे सैफ!

अमृता सिंह और सैफ अली खान ने जब परिवार के खिलाफ जाकर शादी की तो किसी को भी इस बात पर यकीन नहीं आया था क्योंकि दोनों ने शादी का फैसला महज 6 महीने के भीतर ही ले लिया था.

दो मुलाकात में ही इन्होंने शादी का मन बना लिया और रिश्ते में बंध गए लेकिन फिर 2004 में इनका तलाक भी किसी बड़े झटके से कम नहीं था. शादी जितनी शॉकिंग थी उतना ही लोग इस तलाक के बारे में सुनकर हैरान थे.

अमृता ने मांगी थी इतनी एलुमनी

साल 2004 में जब दोनों का तलाक हुआ तो अमृता सिंह ने सैफ अली खान से गुजारा भत्ता के तौर पर 5 करोड़ रूपये मांगे थे. उस वक्त सैफ के पास इतने पैसे नहीं थे. लिहाजा उनके लिए ये बड़ी परेशानी थी कि भला एलुमनी की इतनी बड़ी रकम वो कैसे अमृता को दें.

तब सैफ अली खान ने ढाई करोड़ रूपये अमृता को उसी वक्त दे दिए थे. लेकिन ढाई करोड़ रुपये उधार थे. 2005 में दिए एक इंटरव्यू में सैफ ने बताया था कि चूंकि उनके पास एक साथ इतनी बड़ी रकम नहीं है लिहाजा वो हर महीने एक लाख रूपये अमृता को देते हैं और ऐसा सैफ ने तब तक किया जब तक उन्होंने वो बकाया रकम ना चुका दी.

सालों तक की कड़ी मेहनत

ये रकम चुकाने के लिए सैफ अली खान ने सालों तक कड़ी मेहनत की और जब तक उन्होंने पूरी रकम अदा नहीं की तब तक उन्होंने चैन की सांस नहीं ली. दोनों की शादी अक्टूबर 1991 में हुई थी. ये लव मैरिज थी लेकिन शादी के कुछ सालों बाद ही दोनों के बीच अनबन की खबरें आने लगीं. आज सैफ जहां दूसरा घर बसा चुके हैं तो वहीं अमृता दोनों बच्चों के साथ खुश हैं.

[ डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Air News अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है. ]

Dhara

Dhara

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *